Network MarketingBusinessesEducationNews

Struggle in Direct Selling will never end डायरेक्ट सेल्लिंग बिज़नेस में स्ट्रगल कभी ख़त्म नहीं होगा ये हैं 3 मुख्य कारण जान लीजिये

Struggle in Direct Selling will never end. आज के इस लेख में मैं आप सभी को बताऊंगा कि लोग इस बिज़नेस में स्ट्रगल क्यों करते हैं?

स्ट्रगल करने का 3 रीजन बिल्कुल डिटेल्स में बताऊंगा, इन 3 रीजन को समझना बहुत ही ज्यादा जरूरी है।

Struggle in Direct Selling will never end-min

1. REASON

महत्वपूर्ण बिन्दू

Doing Business like a job नौकरी की तरह व्यापार करना

सबसे पहला रीजन तो यह है कि इस बिजनेस को नौकरी की तरह करना यानिकि एक नॉर्मल व्यक्ति की तरह डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस को करना।

अब इसको मैं आप सभी को थोड़ा डीटेल्स में बताना चाहूंगा, क्योंकि इसको अच्छे से समझना बहुत ही ज्यादा इंपॉर्टेंट है।

जैसे कि मान लीजिए एक व्यक्ति है जो जॉब कर रहा है और उसकी सैलरी ₹10000 महीने की है।

अब उसको यह बात अच्छी तरह से पता है कि मैं चाहे जितना भी मेहनत कर लूं लेकिन मेरी सैलरी अगले महीने ₹100000 की नहीं होने वाली है।

अगले महीने तो छोड़ो अगले साल भी ₹100000 की नहीं होने वाली है क्योंकि मेरी सैलरी तो हर महीने की ₹10000 फिक्स है।

इसलिए उस नौकरी करने वाले व्यक्ति का एटीट्यूट एक नॉर्मल व्यक्ति की तरह रहता है यही सोचता है कि बस नौकरी पर जाना है और घर आ जाना है।

इसके बाद तो कोई काम नहीं है, फिर कल नौकरी पर जाना है यानी कि वह बिल्कुल नॉर्मल व्यक्ति की तरह काम करता है।

अब आप खुद ही सोचिए कि क्या एक जॉब करने वाले व्यक्ति कभी यह सोचेगा कि आज क्या ऐसा नया किया जाए कि अगले महीने मेरी सैलरी ₹100000 की हो जाए।

क्या कभी वह ऐसा सोचेगा कि ऐसा क्या किया जाए कि मैं करोड़पति बन जाऊं या मैं इस कंपनी का मालिक बन जाऊं।

जॉब करने वाले व्यक्ति इसके बारे में सोचता भी नही है, क्योंकि यह पॉसिबल ही नहीं है इसलिए वह नॉर्मल व्यक्ति की तरह जिंदगी जीना शुरु कर देता है।

वह जॉब करने वाले व्यक्ति यही सोचता है कि सुबह में उठना है और आराम से नहा धोकर जॉब पर जाना है, जितना हो सके उतना काम करो और फिर घर आ जाना है।

तो यह एक नॉर्मल एटीट्यूड है, क्योंकि यहां पर उस व्यक्ति को यह पता है कि यह ₹10000 की जो मेरी सैलरी है ₹100000 की कभी नहीं होगी या फिर अगर ₹100000 होगी भी तो इसमें कम से कम 8 से 10 साल लगेंगे 100000 होने में।

तो जब आप इस नॉर्मल वाले एप्टिट्यूड के साथ डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस करेंगे तो इसमें आपको स्ट्रगल तो करना ही पड़ेगा, आप एक ही जगह पर फंस जाएंगे आपका बिजनेस आगे नहीं बढ़ पाएगा।

जैसे कि मान लीजिए आपको रोज सुबह उठना है और उठते समय कोई भी एक्साइटमेंट नहीं है रोज लोगों से मिलना है रोज प्रोडक्ट की बातें करनी है।

लेकिन आप अर्जेंसी क्रिएट नहीं किए कि मुझे आगे बढ़ना है मुझे अगले 2 महीने में अपने सपने को अचीव करना है।

मुझे आने वाले 2 से 3 सालों के अंदर ही करोड़पति बनना है। आज का दिन बहुत इंपॉर्टेंट है यह एक घंटा बहुत इंपॉर्टेंट है यह 10 मिनट का टाइम बच रहा है कितने टाइम में एक अच्छी बुक पढ़ लेता हूं।

इस तरह की अर्जेंसी क्रिएट करनी पड़ेगी आपको अपने अंदर डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस करना है तो।

अगर आप नौकरी वाले की तरह एटीट्यूड के साथ इस बिजनेस को करेंगे तो आपको इस बिजनेस में स्ट्रगल ही करना पड़ेगा।

आप डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस में हमेशा स्ट्रगलर ही बनकर रह जाएंगे, नौकरी में 3 से 4 साल में भी कुछ नहीं होता है और आने वाले 8 से 10 सालों में भी कुछ नहीं होता है।

लेकिन अगर आप डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस करते हैं तो इसमें आपको आने वाले 2 से 3 सालों में आपको अपना पूरी एंटायर लाइफ को ही चेंज कर देना है।

इसलिए यह सबसे पहला रीजन है कि अगर आप उस एटीट्यूड के साथ ये काम कर रहे हैं की यह तो हर रोज करना है रोज लोगों से मिलना है रोज प्लान दिखाना है,

अगर इस तरह के एटीट्यूड के साथ आप रहेंगे तो आप इस बिज़नेस में फंस जाएंगे और आपको जिंदगी भर स्ट्रगल ही करना पड़ेगा।

तो इसलिए सबसे पहले तो आपको इस बात को ध्यान में रखना है कि आपको अपने अंदर अर्जेंसी क्रिएट करना है।

आपको हमेशा यही सोचना है कि मेरे पास बहुत कम टाइम है और आने वाले 2 सालों के अंदर ही मुझे अपना हर वह सपना अचीव करना है मेरे पास बिल्कुल भी समय नहीं है।

इस तरह का एटीट्यूड होना चाहिए आपके अंदर डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस को लेकर।

2. REASON

Doing business in your spare time अपने खाली समय में व्यापार करना

दूसरा रीजन क्या है कि आप इस बिजनेस को स्पेयर टाइम में कर रहे हैं, डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस करने के दो तरीके हैं।

पहला पार्ट टाइम, और दूसरा फुल टाइम

आप चाहे तो जब इस बिजनेस को शुरू करें तो आप अपने नौकरी के साथ या अपने बिजनेस के साथ पार्ट टाइम में इस बिजनेस को शुरू कर सकते हैं।

और पार्ट टाइम करने के बाद जब यह डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस डेवलोप हो जाता है अगर आपको इसमें अपना फ्यूचर दिखता है और आपको अंदर से कॉन्फिडेंस आता है कि मेरी जिंदगी बदल सकती है तब आप इस डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस को फुल टाइम भी कर सकते हैं।

लेकिन डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस में पार्ट टाइम फुल टाइम में कब आना है यह भी समझना बहुत ही ज्यादा जरूरी है।

लेकिन देश के कुछ ऐसे भी इंटेलिजेंस लोग हैं जो तीसरा तरीका भी ढूंढ लिए हैं इस काम को करने का और वह तीसरा तरीका है स्पेयर टाइम।

आपके मन में एक सवाल आ रहा होगा कि यह स्पेयर टाइम क्या है?

तो मैं आप सभी को समझने के लिए बता दूं कि स्पेयर टाइम जैसे कि आपके स्कूटर में स्पेयर व्हील होता है,

तो उस स्पेयर व्हील को आप कब इस्तेमाल करते हैं जब आपका एक विल खराब होता है मतलब की जब आपको तकलीफ हुई तब इस्तेमाल करते हैं।

स्पेयर टाइम यानी कि कभी-कभी कर लिया।

Doing business with uncertain time

यानी कि कभी 1 घंटा कभी 2 घंटा या महीने में तीन से चार दिन बहुत लोग तो ऐसे भी हैं जो नौकरी करते हैं और नौकरी के लिए पूरे दिन का 8 घंटे देते हैं

और उनका सैलरी महीने की 15 से 20000 होती है और जब वह डायरेक्ट सेलिंग में आते हैं तो यह कहते हैं कि मुझे महीने का ₹100000 कमाना है।

तब उनसे यह पूछा जाता है कि आप डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस में कितना समय देते हैं तो वह कहते हैं हफ्ते में 2 से 3 घंटे ।

अब आप खुद यह सोचिए कि जो व्यक्ति महीने में 15 से ₹20000 कमाने के लिए रोज का 8 घंटा देता है।

और महीने का ₹100000 कमाने के लिए हफ्ते का 2 घंटा देगा तो यह पॉसिबल ही नहीं है, स्पेयर टाइम करने से इस बिजनेस में कुछ भी नहीं हो पाएगा।

फुल टाइम में नहीं कर सकते हैं तो पार्ट टाइम में कीजिए और पार्ट टाइम का मतलब यह है कि जैसे आप नौकरी के लिए किसी भी हालत में पूरे दिन का 8 घंटा देते हैं,

बारिश में भी रेनकोट पहनकर जॉब के लिए जाते हैं या चाहें और भी किसी हालत में आप जॉब पर टाइम से पहुंच जाते हैं उस जॉब के अनुसार ही आपको हर रोज का लगभग 3 घंटा तो आपको किसी भी हाल में डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस के लिए भी देना ही होगा।

You have to give time to this business

यानी कि जब तक आप इस बिजनेस के लिए टाइम नहीं देंगे तब तक यह बिजनेस भी आपको कुछ भी नहीं देगा।

अगर आप 15 से 20 सालों तक भी हफ्ते में एक घंटा देकर इस इस बिजनेस में कुछ अचीव करना चाहें तो वह भी नहीं हो पाएगा।

आप खुद अपने आपको ही बेवकूफ बनाएंगे कि 1 दिन जिंदगी बदलेगी लेकिन आपकी जिंदगी इस तरह से बिल्कुल भी नहीं बदलेगी।

आपको इस बिजनेस को सीरियसली लेना पड़ेगा इस बिजनेस को पार्ट टाइम या फुल टाइम दोनों तरीके में से एक तरीके से यह बिजनेस करना बहुत ही ज्यादा जरूरी है।

Take business seriously & do it as a part time or full time

3. REASON

Not master in basic things of business व्यापार की बुनियादी चीजों में महारत हासिल नहीं

तीसरा रीजन यह है कि आप इस बिजनेस में स्ट्रगल क्यों कर रहे हैं?

क्योंकि अभी तक आप बेसिक चीजो में मास्टरी हासिल नहीं किए हैं, अभी भी आप अपने अप-लाइन के ऊपर डिपेंडेड हैं।

अगर अभी भी आपको अपना प्लान दिखाना नहीं आता है ,अपने प्रोडक्ट का डेमो देना नहीं आता है

और प्रोस्पेक्टिंग करना नहीं आ रहा है तो इसका मतलब यह है कि आप खुद मेहनत नहीं कर रहे हैं आप दूसरे के ऊपर डिपेंड हैं।

तो कई बार आपके साथ भी ये होगा कि आपका प्रोस्पेक्ट रेडी है प्लान देखने के लिए लेकिन जो प्लान दिखाने वाला अपलाइन है वह यहां पर हाजिर नहीं है तो आपका प्लान शो नहीं होगा।

कई बार यह भी हो सकता है कि आपके अप-लाइन वहां पर पहुंच जाएंगे लेकिन जब आप अपने प्रोस्पेक्ट के पास फोन करेंगे तो वह आपका फोन ही नहीं उठाएगा तब भी आपकी मीटिंग नहीं होगी।

और जब तक आप अपने अप-लाइन के ऊपर डिपेंड रहेंगे तब तक आपका जो बिजनेस है वह किसी और के भरोसे चलेगा।

हां यह है कि शुरुआती दौर में मदद चाहिए किसी की सपोर्ट चाहिए लेकिन बाद में आपको अपने ऊपर ही डिपेंड होना पड़ेगा।

“You have to master the basic skills of the business आपको व्यवसाय के बुनियादी कौशल में महारत हासिल करनी होगी”

आपको बेसिक चीजों में मास्टर बनना पड़ेगा और यह सारी बेसिक चीजें आपको इस डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस के अंदर ही सीखना पड़ेगा।

अगर अभी तक आप बेसिक चीजें नहीं सीखे हैं तो आप इस बिज़नेस में स्ट्रगल करते रहेंगे क्योंकि जब तक आप नहीं सीखेंगे तब तक आप अपनी टीम के मेंबर को भी नहीं सीखा पाएंगे।

और जब तक आप अपनी टीम के हर मेंबर को बेसिक चीजें नहीं सिखाएंगे तब तक आपकी टीम के लोग इंडिपेंडेंट नहीं बनेंगे और आपकी टीम भी नहीं बन पाएगी।

तो यह आपके लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि बेसिक चीजों में मास्टर बने।

Learn & implement जानें और लागू करें

बेसिक चीजें सीखें और करें, यानी कि बेसिक चीजें सीखते जाओ करते जाओ और बेसिक चीजों में मास्टर बन जाओ।

जो भी व्यक्ति डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस में बेसिक चीजें जानता है,

जैसे कि लिस्टिंग, प्रोस्पेक्टिंग, फॉलो-अप, प्लान-शो ,काउंसलिंग, टीम बिल्डिंग इन सारी चीजों में मास्टर बन जाता है।

उसको कामयाब होने से दुनिया की कोई भी शक्ति नहीं रोक सकती है तो यही वह 3 रीजन है जिसकी वजह से लोग स्ट्रगल करते हैं।

यदि आप सभी को आज का हमारा यह लेख (Struggle in Direct Selling will never end डायरेक्ट सेल्लिंग बिज़नेस में स्ट्रगल कभी ख़त्म नहीं होगा ये हैं 3 मुख्य कारण जान लीजिये) पसंद आया हो तो कृपया करके आप सभी हमारे इस लेख को अपने टीम के हर मेंबर के साथ जरूर शेयर करें।

ताकि वह सभी लोग भी (Struggle in Direct Selling will never end डायरेक्ट सेल्लिंग बिज़नेस में स्ट्रगल कभी ख़त्म नहीं होगा ये हैं 3 मुख्य कारण जान लीजिये) के बारे में समझ सके और दूसरों को समझा सके।

आप और भी ऐसे बहुत सारे लेख पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट www. पर Visit कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

admin

Kritika Parate | Blogger | YouTuber,Hello Guys, मेरा नाम Kritika Parate हैं । मैं एक ब्लॉगर और youtuber हूं । मेरा दो YouTube चैनल है । एक Kritika Parate जिस पर एक लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं और दूसरा AG Digital World यह मेरा एक नया चैनल है जिस पर मैं लोगों को ब्लॉगिंग और यूट्यूब के बारे में सिखाता हूं, कि कैसे कोई व्यक्ति जीरो से शुरुआत करके एक अच्छा खासा यूट्यूब चैनल और वेबसाइट बना सकता है ।Thanks.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button