BusinessesFinanceNews

Start toy making business from home at very low cost बिलकुल कम लगत में घर से शुरू करें खिलौने बनाने का बिजनेस

Start toy making business from home at very low cost. आज के इस लेख में मैं आप सभी को बताऊंगा कि आप कैसे अपने घर पर ही प्लास्टिक का खिलौने बनाने का बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

यह जो प्लास्टिक का खिलौना बनाने का बिजनेस है यह गांव हो या शहर कहीं भी बहुत अच्छा चलेगा।

क्योंकि छोटे बच्चे ज्यादातर प्लास्टिक के खिलौने से खेलते हैं।

Start toy making business from home at very low cos-min

प्लास्टिक का बैट बनाने के लिए ब्लो मोल्डिंग प्रॉसेस का यूज़ होता है और उस प्लास्टिक का खिलौना बनाने वाली मशीन को ब्लो मोल्डिंग मशीन बोला जाता है।

तो प्लास्टिक के खिलौने बनाने के लिए सबसे पहले प्लास्टिक के H. D. P E दाने मशीन के हॉपर में डाला जाता है,

उसके बाद रॉ मटेरियल स्क्रुब बैरयल के जरिए आगे बढ़ता है आगे जाकर हीटर की वजह से रॉ मटेरियल पेस्ट में कन्वर्ट हो जाता है।

प्लास्टिक के खिलौने को बनाने के लिए H D P E रॉ मटेरियल का इस्तेमाल होता है।

और रॉ मैटेरियल को कलर देने के लिए मास्टर बैच का इस्तेमाल होता है, जिससे अपने पसन्द के रंग बिरंगे खिलौने बना सकते हैं।

अब यह मेटल पेस्ट पैरिसन के जरिए आगे बढ़ता है जहां पर वह जो खिलौना बनाया जाता है उस खिलौने के आकार में मोल्ड में आता है।

मोल्ड को आप अलग-अलग खिलौने के मुताबिक मैन्युफैक्चरर से बनवा सकते हैं।

बाद में इसमें कंप्रेसर के जरिए पेस्ट को ब्लो किया जाता है जिससे पेस्ट मोल्ड आकार का बन जाता है उसके बाद खिलौना तैयार हो जाता है।

लेकिन उसको रूम टेंपरेचर पर ठंडा होने के लिए छोड़ दिया जाता है उसके बाद तैयार हुए खिलौनों को कोने-कोने से फिनिश कर दिया जाता है।

और जो मैटेरियल बचता है उस मैटेरियल को कर्सर में डालकर फिर से इस्तेमाल किया जाता है।

Plastic toy making business plan प्लास्टिक के खिलौने बनाने की व्यवसाय योजना

यह टॉय मेकिंग मशीन गुजरात के अहमदाबाद में SMP कंपनी द्वारा बनाई जाती है इस मशीन के द्वारा 12 घंटे में 960 खिलौने बनती है।

तो 12 घंटे में 960 खिलौने बनाने के लिए 150 किलोग्राम HDPE रॉ मटेरियल इस्तेमाल होता है और उस रॉ मटेरियल की कीमत ₹105 प्रति किलोग्राम है।

उसके हिसाब से अगर देखा जाए तो हर रोजज ₹15750 का रॉ मटेरियल लगेगा।

और पूरे 1 महीने में 24000 खिलौने बनने के लिए 3,93,750 रुपए का रॉ मटेरियल आपको खर्च करना पड़ेगा।

इसके बाद production cost की बात की जाए तो

1 Skilled labour
2 Unskilled labour
3 Power consumption
4 Transportation cost
5 Packaging cost

इन सब को मिलाकर ₹21,420 1 दिन की लागत आती है।

यानी कि रॉ मटेरियल और प्रॉडक्शन कॉस्ट को जोड़कर एक प्लास्टिक का बैट 22.30 रुपए में पड़ेगा।

और प्लास्टिक के एक बैट पर आप ₹6 से लेकर ₹8 तक का मुनाफा कमा सकते हैं।

तो आप अपना रिटेल चेन सेट करके खिलौना बेचकर लाखों रुपए कमा सकते हैं।

अगर आप इस मशीन से प्लास्टिक का बैट बनाते हैं तो हर महीने कम से कम ₹80000 से लेकर के ₹100000 तक का प्रॉफिट कमा सकते हैं।

अगर आप इस मशीन को खरीदना चाहते हैं तो इस मशीन की कीमत ₹1300000 है।

उसके अलावा मोल्ड आपको खिलौने के अनुसार बनवाना होगा जिसकी कीमत लगभग ₹50000 से लेकर ₹100000 तक की होगी।

और उस मशीन को ठंडा रखने के लिए आपको एक कूलिंग टावर की आवश्यकता पड़ेगी।

इस मशीन को बैठाने के लिए लगभग 1000 स्क्वायर फीट की जरूरत पड़ती है।

इस मशीन की खासियत यह है कि आप इस मशीन की मोल्ड को चेंज करके कोई भी ब्लो मोल्डिंग से बनने वाला खिलौना या प्लास्टिक का बोतल बना सकते हैं।

यदि आप सभी को आज का हमारा यह लेख (Start toy making business from home at very low cost बिलकुल कम लगत में घर से शुरू करें खिलौने बनाने का बिजनेस) पसंद आया हो तो कृपया करके आप सभी हमारे इस लेख को अपने टीम के हर मेंबर के साथ जरूर शेयर करें।

ताकि वह सभी लोग भी (Start toy making business from home at very low cost बिलकुल कम लगत में घर से शुरू करें खिलौने बनाने का बिजनेस) के बारे में समझ सके और दूसरों को समझा सके।

आप और भी ऐसे बहुत सारे लेख पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट www. पर

Visit कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

admin

Kritika Parate | Blogger | YouTuber,Hello Guys, मेरा नाम Kritika Parate हैं । मैं एक ब्लॉगर और youtuber हूं । मेरा दो YouTube चैनल है । एक Kritika Parate जिस पर एक लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं और दूसरा AG Digital World यह मेरा एक नया चैनल है जिस पर मैं लोगों को ब्लॉगिंग और यूट्यूब के बारे में सिखाता हूं, कि कैसे कोई व्यक्ति जीरो से शुरुआत करके एक अच्छा खासा यूट्यूब चैनल और वेबसाइट बना सकता है ।Thanks.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button