Network MarketingBusinessesEducationNews

Motivate Your Team in MLM नेटवर्क मार्केटिंग में हैं तो डाउन-लाइन को मोटिवेट करने का यह तरीका सिख लिजिये बहुत काम आयेगा

Motivate Your Team in MLM. आज के इस लेख में मैं आप सभी को बताऊंगा कि अपने डाउनलाइन को हमेशा मोटिवेट कैसे रखना है, अपने टीम के हर सदस्य को मोटिवेट कैसे रखना है?

वैसे तो आप अक्सर अपने डाउनलाइन के पास मोटिवेटेड वीडियो भेजते हैं, मोटिवेटेड वीडियो का लिंक भेजते रहते हैं उनके पास मैसेज करते रहते हैं।

और वन टू वन काउंसलिंग भी करते हैं, लेकिन जो सही तरीका है मोटिवेट करने का वह आप नहीं कर पाते हैं।

लेकिन इस पर बात करने से पहले मैं आप सभी को यह बताना चाहूंगा कि आप गलती क्या करते हैं?

तो बहुत ऐसे भी लीडर हैं जो जब अपने डाउनलाइन को मोटिवेट करते हैं वन टू वन काउंसलिंग करते हैं तो वहां पर गलती कर देते हैं।

सबसे बड़ा गलती तो वहीं पर करते हैं जब वो अपने डाउनलाइन को मोटिवेट करते हैं।

Motivate Your Team in MLM-min

अब आप गलती क्या करते हैं ?

महत्वपूर्ण बिन्दू

जब आप किसी डाउनलाइन के साथ वन टू वन काउंसलिंग कर रहे होते हैं तो आप यह चाहते हैं कि यह अच्छा प्रोफॉर्म करें।

और आप अपने डाउनलाइन को मोटिवेट करने की कोशिश करते हैं आप यह सोचते हैं कि यह अचानक प्रफॉर्म करने लगे।

तो यहां पर आप सबसे पहली और सबसे बड़ी गलती क्या करते हैं कि आपकी टीम में कुछ ऐसे भी प्रफॉर्म, जो स्टार प्रफॉर्म होते हैं जो बहुत अच्छा परफॉर्म कर रहे होते हैं अच्छी जॉइनिंग करा रहे होते हैं, उस स्टार परफॉर्मर की तारीफ आप वन टू वन काउंसलिंग के समय नए डाउनलाइन के सामने भी करते हैं यहीं पर आप सबसे बड़ी गलती है।

बहुत सारे लीडर यही सोचते हैं कि इस तरह से मैं उस डाउनलाइन के बारे में इस डाउनलाइन से बात करूंगा तो यह मोटिवेट हो जाएगा यह अच्छा प्रफॉर्म करने लगेगा, लेकिन बिल्कुल इसका उल्टा होता है।

इसलिए मैं आप सभी से यही कहना चाहूंगा कि आप कभी भी अपने पुराने डाउनलाइन से नए डाउनलाइन का कंपेयर मत कीजिए।

क्योंकि हर व्यक्ति का अपना एक अलग ही ईगो होता है और उस व्यक्ति का वह ईगो दुनिया में सबसे प्यारा होता है।

अगर आप ऐसे करते हैं की अपने नए डाउनलाइन के सामने पुराने डाउनलाइन के तारीफ पर तारीफ किए जा रहे हैं और आपका तरीका भी सही है।

क्योंकि आप यही चाह रहे हैं कि यह नया डाउनलाइन अच्छा प्रफॉर्म करें, इसलिए आप अपने पुराने डाउनलाइन का तारीफ कर रहे हैं लेकिन इसका नेगेटिव रिजल्ट होता है।

क्योंकि जब आप अपने नए डाउनलाइन के सामने पुराने डाउनलाइन का तारीफ कर रहे होते हैं तो आप अपने बातों बातों में अपने नए डाउन लाइन से यह नहीं कहते हैं कि तुम कुछ नहीं कर रहे हो।

लेकिन जब आप पुराने डाउनलाइन की तारीफ करते हैं तो उस नए डाउनलाइन को यह समझ में आता है कि मैं कुछ नहीं कर रहा हूं इसलिए यह मेरे सामने उस डाउनलाइन का तारीफ कर रहे हैं।

और जब आप ऐसे करते हैं तो आप अपने नए डाउनलाइन के इगो को हर्ट कर रहे होते हैं।

जब किसी का इगो हर्ट होता है तो वह व्यक्ति किसी का नहीं सुनता है वह आपके बिजनेस को छोड़कर चला जाएगा।

आपके साथ कभी भी नहीं रहेगा वह आपसे कभी भी बात करना नहीं चाहेगा।

क्योंकि हर व्यक्ति का ईगो सबसे प्यारा होता है, आप ना चाहते हुए भी जाने अनजाने में अपने नए डाउनलाइन के इगो को हर्ट कर रहे हैं।

तो मेरे कहने का मतलब यह है कि आप कभी भी अपने नए डाउनलाइन के सामने पुराने डाउनलाइन का तारीफ मत कीजिए यह मोटिवेट करने का बिल्कुल गलत तरीका है।

अगर आप सच में यह चाहते हैं कि यह जो नया डाउनलाइन है इसको पुराने डाउनलाइन की तरह ही स्टार बनाना है तो मैं इसका आप सभी को सही तरीका बताना चाहूंगा।

तो अपने नए डाउनलाइन को मोटिवेट करने का सही तरीका यह है कि जब भी आपकी टीम की ग्रुप मीटिंग होता है उस वक्त बहुत सारे लोग एक साथ बैठे होते हैं और उस टाइम पर रिकॉग्निशन भी होता है, अगर रिकॉग्निशन नहीं होता है तो आप रिकॉग्निशन का कलचर वहां पर लाइए क्योंकि रिकॉग्निशन जरूरी है।

उस वक्त आप अपने स्टार प्रफॉर्मा का तारीफ खुलकर कीजिए वहां पर आपको एकदम अच्छे तरीके से स्टार प्रफॉर्म को स्टार घोषित कर देना है।

अगर आप इस तरह से ग्रुप मीटिंग में तारीफ कर रहे हैं तो किसी का भी इगो हर्ट नहीं होगा।

क्योंकि आप वहां पर किसी का नाम नहीं ले रहे हैं, लेकिन उस मीटिंग में जो समझदार होगा उसके दिल में स्टार प्रफॉर्म का तारीफ सुनकर आग लग रही होगी।

वह मोटिवेट हो रहा होगा उस स्टार प्रफॉर्म का तारीफ सुनकर और वो काम को बहुत ही अच्छे से करना शुरू कर देगा।

और यहां पर आपका जो मकसद था लोगों को अपने स्टार प्रफॉर्म और उसके बारे में बताने का वह मकसद भी पूरा हो गई।

लेकिन अगर इसी बात को आप वन टू वन काउंसलिंग में कहते हैं तो आप वहां पर इनडायरेक्टली यही कहते हैं कि पुराने प्रोफॉर्म अच्छा है

और यहीं पर जो नया डाउनलाइन होता है उसका ईगो हर्ट होने लगता है।

तो इसलिए मैं आप सभी से यही कहना चाह रहा हूं कि अगर आपको किसी का तारीफ भी करना है तो आप ग्रुप मीटिंग में कीजिए वन टू वन में मत कीजिए।

और ग्रुप मीटिंग में उस स्टार प्रफॉर्म का तारीफ करना जरूरी भी है।

अगर आपके टीम में कोई स्टार प्रफॉर्म है तो उसका प्रमोशन करवाना जरूरी है।

क्योंकि उस स्टार प्रफॉर्म का प्रमोशन ही दूसरे टीम मेंबर में आग लगा देगा।

अगर आपके टीम में कोई अच्छा प्रफॉर्म है तो उसका तारीफ आप खुलकर कीजिए आप उसको जहां-जहां प्रमोट कर सकते हैं वहां-वहां प्रमोट कीजिए क्योंकि यही चीजें दूसरों में आग लगाएगी।

अब आपके मन में यह सवाल आ रहा होगा कि क्या वन टू वन काउंसलिंग नहीं करनी चाहिए और अगर वन टू वन काउंसलिंग करनी भी चाहिए तो वन टू वन काउंसलिंग में कौन सी बात करनी चाहिए और कौन सी बात नहीं करनी चाहिए?

तो मैं आप सभी को समझने के लिए बता दूं कि वन टू वन काउंसलिंग तो बहुत जरूरी है, क्योंकि वन टू वन काउंसलिंग तो करना ही चाहिए।

क्योंकि आपकी वन टू वन काउंसलिंग हर एक डाउनलाइन के साथ होनी चाहिए।

अब बात आती है कि वन टू वन काउंसलिंग में क्या करना चाहिए?

तो मैं आप सभी को यह बता दूँ कि वन टू वन काउंसलिंग में सबसे पहले तो heart-to-heart कनेक्शन होनी चाहिए।

यानी कि आपका दिल उस नए डाउनलाइन के दिल के साथ जुड़ना चाहिए।

मेरे कहने का मतलब यह है कि आपके और आपके नए डाउनलाइन के बीच किसी दूसरे का बात नहीं होना चाहिए जब आप अपने डाउनलाइन के साथ बैठें तो आपको सिर्फ उनकी की ही बात करनी है।

उनके प्रफॉर्म के बारे में उसके प्रॉब्लम के सलूशन के बारे में आपको सिर्फ और सिर्फ उनके बारे में बात करनी है।

जो स्टार प्रफॉर्मर है उसका तारीफ बाद में कीजिएगा उसका तारीफ ग्रुप मीटिंग में कीजिएगा।

लेकिन वन टू वन काउंसलिंग में आपका सारा फोकस अपने नए डाउनलाइन की प्रॉब्लम को सॉल्व करने में होनी चाहिए।

कई बार अगर आप ग्रुप मीटिंग में अपने स्टार प्रफॉर्मर का तारीफ कर रहे हैं तो वहां पर आप उनकी तारीफ ना करके आप यह कोशिश कीजिए कि आपके अपलाइन उस स्टार प्रफॉर्मर का तारीफ करें यह ज्यादा इंपैक्ट करेगा।

जो आपका अपलाइन हैं उनसे उस स्टार प्रफॉर्मर का तारीफ करवाएं।

क्योंकि आपके जितनी भी डाउनलाइन हैं वह आपकी उतनी वैल्यू नहीं करेंगे जितनी आपके अपलाइन के करेंगे।

आपके अपलाइन स्टार प्रफॉर्मर का तारीफ जब स्टेज पर आकर करते हैं तो उस पूरे ग्रुप मीटिंग में आग लग जाती है, यह बहुत ही अच्छा तरीका है अपने डाउनलाइन को मोटिवेट करने का।

और अगर उस समय पर आपके अपलाइन नहीं हैं तो कोशिश कीजिए कि आप उस ग्रुप मीटिंग में अपने डाउनलाइन को बहुत ही अच्छे से समझा सके।

अब आपको इसमें यह पता चल गया कि डाउनलाइन को कैसे मोटिवेट करना है, क्या आप गलत कर रहे थे और क्या सही करना है।

यदि आप सभी को आज का हमारा यह लेख (Motivate Your Team in MLM नेटवर्क मार्केटिंग में हैं तो डाउन-लाइन को मोटिवेट करने का यह तरीका सिख लिजिये बहुत काम आयेगा) पसंद आया हो तो कृपया करके आप सभी हमारे इस लेख को अपने टीम के हर मेंबर के साथ जरूर शेयर करें।

ताकि वह सभी लोग भी (Motivate Your Team in MLM नेटवर्क मार्केटिंग में हैं तो डाउन-लाइन को मोटिवेट करने का यह तरीका सिख लिजिये बहुत काम आयेगा) के बारे में समझ सके और दूसरों को समझा सके।

आप और भी ऐसे बहुत सारे लेख पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट www. पर Visit कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

admin

Kritika Parate | Blogger | YouTuber,Hello Guys, मेरा नाम Kritika Parate हैं । मैं एक ब्लॉगर और youtuber हूं । मेरा दो YouTube चैनल है । एक Kritika Parate जिस पर एक लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं और दूसरा AG Digital World यह मेरा एक नया चैनल है जिस पर मैं लोगों को ब्लॉगिंग और यूट्यूब के बारे में सिखाता हूं, कि कैसे कोई व्यक्ति जीरो से शुरुआत करके एक अच्छा खासा यूट्यूब चैनल और वेबसाइट बना सकता है ।Thanks.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button